positive_parenting_big

बच्चों की परवरिश में प्यार और अनुशासन का तालमेल है जरूरी, माता-पिता ध्यान रखें ये बातें

बच्चे की परवरिश में प्यार और अनुशासन दोनों ही महत्वपूर्ण तत्वों में से एक है। कुछ तरीकों को अपनाकर माता-पिता इन दोनों को परवरिश में जोड़ सकते हैं।

जैसे जैसे समय बदल रहा है वैसे वैसे परवरिश करने के तरीके में बदलाव लाना जरूरी है। ऐसे में माता-पिता की यह जिम्मेदारी है कि वह अपनी सोच और व्यवहार दोनों में संतुलन बनाए रखें। बच्चों की परवरिश में जितना जरूरी प्यार है उतना ही जरूरी अनुशासन भी है। इन दोनों के बीच तालमेल बैठाना भी माता-पिता की ही जिम्मेदारी है। ऐसे में कुछ तरीके माता-पिता की बेहद काम आ सकते हैं। आज का हमारा लेख उन्हीं तरीकों पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि माता-पिता कैसे बच्चों की परवरिश में प्यार और अनुशासन दोनों को जोड़ सकते हैं। इसके लिए हमने कॉन्टिनुआ किड्स की विकासात्मक व्यवहार पेडियाट्रिशन एंड सह-संस्थापक के डॉ. हिमानी नरूला (Dr. Himani Narula, Developmental and Behavioural Paediatrician) से भी बात की है। 

Link: https://www.onlymyhealth.com/tips-to-balance-love-and-discipline-in-parenting-in-hindi-1641812822

Scroll to Top